रविवार, 24 जून 2012

YAADEN (42) यादें (४२)

1965-66 में मैं, तेजा, गुरमेल, श्रीराम, विश्वनाथ चौथी में थे; उस वक़्त सुल्तान सुथार, किरण, पद्मा, धनीराम लाम्बा की लड़की राजकुमारी, मेरी बुआ सत्या देवी, कृष्ण मंडा का छोटा भाई बुधराम तीसरी में थे; सुल्तान राम की लिखाई सुन्दर थी;
पंडित रघुनाथदास की बड़ी लड़की चमेली दिल्ली में ब्याही थी, छोटी कौशल्या (छल्लो) व सेवक राम तुली की शादी एक ही दिन थी; दिल्ली से बारात आई थी, तीन दिन बारात रुकी, गर्मियों के दिन थे नहर बंद थी; पानी की बहुत किल्लत थी; बारात विदा हो रही थी जब नहर में पानी आया;
ठाकुर संतराम जी की छोटी बेटी कांता की शादी ठाकुर ज्ञानचंद के बेटे रामसिंह के साथ हुई;
 उसी दिन तीसरी में पढने वाली राजकुमारी की शादी भी हुई; हमीरा जी के पोते, लूणा जी मंडा  के बेटे बुधराम की शादी भी उसी दरम्यान हुई थी; अपने से एक दर्जा नीचे पढने वाले इन दोनों की शादियों से मैं काफी हैरान, परेशान था;
उस साल आस-पास के गावों के विद्यार्थी सालाना इम्तिहान देनें हमारे गाँव आये थे; सबने अपने-अपने घर एक-एक साथी को रखा था; शामगढ़ का एक लड़का मेरे साथ हमारे घर रुका था; उन पाँच-चार दिनों में हम दोनों पूरी तरह घुल-मिल गए थे; उसके बाद आज 46 साल बीतने पर भी हम दोनों की मुलाकात नहीं हो सकी है;
चौथी पास करके जून1966 में मैं अपने बड़े मामा वेदप्रकाश जी के साथ पांचवी पढने के लिए, भानियावाला चला गया था ! 

 जयहिंद جیہینڈ  ਜੈਹਿੰਦ
 Ashok, Tehsildar Hanumamgarh 9414094991  

3 टिप्‍पणियां:

  1. From: Facebook
    Date: Thu, Dec 20, 2012 at 10:59 PM
    Subject: राजेश चड्ढ़ा commented on your link.
    To: Ashok Kumar Khatri


    facebook

    राजेश चड्ढ़ा commented on your link.
    राजेश wrote: "आपने जैसे शब्दचित्र ही खींच दिए ! बहुत सहज ! बढ़िया "

    उत्तर देंहटाएं


  2. ---------- Forwarded message ----------
    From: Facebook
    Date: Fri, Dec 21, 2012 at 7:44 PM
    Subject: Manoj Gupta commented on your link.
    To: Ashok Kumar Khatri


    facebook

    Manoj Gupta commented on your link.
    Manoj wrote: "biographi"
    Reply to this email to comment on this link.

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं